Sehri se Pahle ki Dua in Hindi | Sehri me Dua kaise Mange

Sehri se Pahle ki Dua
5/5 - (3 votes)

Sehri se Pahle ki Dua in Hindi यह हर सच्चे मोमिन को जानना चाहिए क्यूंकि यह सब जानते हैं; कि सेहरी का वक्त बेहद ही बा-बरकत होता है, और हर दुुआ कबूल होती है.

ऐसे में Sehri me dua kaise mange जानने से हम इस बा-बरकत वक्त में दुआ मांगकर अपनी तमाम हाजतों को पुरा करवा सकते हैं; और अपनी दुआओं को कबूल करवा सकते हैं.

जिस तरह इफ्तार के वक्त दुआ मांगने की फज़ीलत अलग होती है, और उस वक्त कुछ खास दुआएं होती हैं; जिन्हें हर मुसलमान को मांगना चाहिए ठीक उसी तरह फज़र के वक्त भी कुछ दुआएं ऐसी हैं जिन्हें हमें जरूर मांगना चाहिए.

Ramzan Ki Fazilat Kya Hai

Sehri me dua mangna kaisa hai?

Sehri me dua mangna kaisa hai? आपको बता दें सेहरी का वक्त बा-बरकत वक्त होता है; जिस वक्त दुआ मांगना काफी अफज़ल माना जाता है, हदीसों में इस वक्त दुआ मांगने कि काफी फजीलतें बयान की गई है.

सेहरी के वक्त दुआ मांगना बेहद ही अफजल है, इस वक्त दुआ मांगने से हमारी दुआएं कबूल होती हैं; रमजान के महीने में दो वक्त ऐसे होते हैं, जिस वक्त सबसे ज्यादा दुआ कबूल होती है, और वह वक्त है, सेहरी और इफ्तार का.

इसलिए आज हम आपके दरमियान में Sehri me dua kaise mangesehri se pahle ki dua in hindi में लेकर आयें हैं; ताकि आप इस वक्त का फायदा उठा सकें.

Sehri me dua mangne ki hadees

Sehri me dua mangne ki hadees काफी हैं; आज हम आपको सबसे अफज़ल और मशहूर हदीस बताएंगे जिसमें हमारे नबी का इरशाद है.

हमारे नबी का इरशाद है, फरमाते हैं, कि सेहरी का वक्त अल्लाह ने बेहद ही बा-बरकत बनाया है; इस वक्त अल्लाह की खास रहमतें नाजिल होती है, इसलिए सेहरी किया करो.

इससे आपको यह तो अंदाजा लग गया होगा कि सहरी के वक्त अल्लाह की खास रहमते नाजिल होती हैं; ऐसे में जब अल्लाह की रहमतें दुनिया पर नाजिल होती है, तो उस वक्त मांगी गई दुआ कबूल होती है.

इसलिए हमें सेहरी का वक्त जाया नहीं करना चाहिए बल्कि सेहरी करके अपने और तमाम मुसलमानों के लिए दुआ मांगनी चाहिए.

Kya ramzan me humbistari kar sakte hain?

Sehri me dua kaise mange

Sehri me dua kaise mange – आप सहरी के वक्त ठीक उसी तरह दुआ मांगेंगे जैसे आप अपनी पांच वक्ता नमाज पढ़ने के बाद मांगते हैं; दुआ मांगने का एक खास तरीका होता है, जिससे अल्लाह दुआएं जल्दी सुनता है, और कबूल फरमाता है.

दोस्तों यूं तो अल्लाह हर चीज से वाकिफ है, कि हमारे लिए क्या जरूरी है, क्या नहीं? हम क्या चाहते हैं, हम क्या नहीं चाहते हैं; हर चीज लेकिन जब बंदा अल्लाह से अपनी हाजतों के लिए दुआ मांगता है, उसकी इबादत करता है, तो अल्लाह को यह अंदाज पसंद आता है.

इसलिए हमने Sehri me dua mangne ka tarika भी बताया है; ताकि आप सही तरीके से दुआ मांगे ताकी आपसे कोई गलती ना हो और आपकी दुआएं कबूल हो जाएं.

Sehri me dua mangne ka tarika

  • पहली बात तो आप सहरी के वक्त खत्म होने से कम से कम एक घंटा पहले उठे और सेहरी का इंतजाम करें जो आप सेहरी में खाने वाले है.
  • अब आप खुशुअ व कुज़ुअ के साथ सही तरीके से वजू करें और सेहरी के लिए बैठ जाएं.
  • उसके बाद आप चाहे तो पहले सेहरी कर लें या पहले दुआ मांग लें आप ऐसा भी कर सकते हैं; कि सामने आपकी सेहरी रखी हो और आप दुआ मांग रहे हो जैसे इफ्तार में होता है.
  • अब आप अपने दोनों हाथों को अल्लाह की बारगाह में उठाकर इस तरह दुआ मांगे सबसे पहले आप अल्लाह की खूब तारीफें करें.
  • यूं तो हम इंसान अल्लाह की तारीफें नहीं कर सकते क्योंकि उसकी शान इतनी आला है; कि तारीफें कम पड़ जांएगी लेकिन फिर भी हम जितनी कर सकते हैं, उतनी करनी चाहिए.
  • अल्लाह की तारीफें करने के बाद आप हमारे नबी सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम पर दुरूद ए पाक भेजें; और फिर उम्मते मोहम्मदिया के हक में दुआएं करें उसके बाद अपनी हाजतों की दुआ करें.

नीचे हमने जो आपको दुआएं बताईं हैं, उन्हें आप अपनी दुआओं में जरूर शामिल करें; क्योंकि सिर्फ अपने लिए दुआ मांगने से वह दुआ कबूल नहीं होती जब तक की दुआ तमाम मुसलमानों के लिए ना की गई हों.

Sehri se Pahle ki Dua

Sehri se pahle ki dua in hindi

(1) - या अल्लाह हम सब पर रहम फरमा मेरे मौला !!! 
(2) - या रब्बे कायनात हमें उन तमाम चीजों से दूर कर जो हमें तुझसे दूर करती हों आमीन !!! 
(3) - ऐ मेरे परवरदिगार तमाम मुसलमानों को नेकी की राह पर चलने की तौफीक अता फरमा पर बुरे कामों से बचा आमीन !!! 
(4) - या अल्लाह तमाम मुसलमान जो बीमार हैं, जिस वजह से वह रोजा नहीं रख पा रहे हैं; उन्हें जल्द से जल्द शिफा अता फरमा, सेहत और तंदुरुस्ती अता फरमा आमीन !!! 
(5) - ऐ मेरे रब तमाम मुसलमान जो बेकसूर जेलों में बंद है, और सजा काट रहे हैं; या अल्लाह उन्हें जल्द से जल्द रिहाई दिलवा आमीन सुम्मा आमीन !!! 
(6) - या अल्लाह हमें नमाज और कुरान पढ़ने का पाबंद बना मेरे मौला !!! 
(7) - या अकर्कर्मीन हम पर करम फरमा आमीन !!! 
(8) - या अल्लाह तमाम मुसलमानो को हज करने की तौफीक अता फरमा आमीन सुम्मा आमीन !!!
(9) - ऐ मेरे रब तू गफूर्रिहीम है, या अल्लाह हमारे तमाम गुनाहों को माफ फरमा आमीन !!! 
(10) - या अल्लाह तमाम मुसलमानो को रोजा रखने की ताकत और कुव्वत अता फरमा आमीन !!! 

Ramadan me sehri se pahle padhne ki dua

(1) - या अल्लाह तमाम मुसलमानों को एक कर दे और एक दूसरे के दिलों में प्यार और मोहब्बत पैदा फरमा आमीन !!! 
(2) - या अल्लाह तमाम फिलिस्तीनी मुसलमानों को हिम्मत और हौसला अता फरमा और जालिम यहूदियों से लड़ने की ताकत अता फरमा आमीन !!! 
(3) - मेरे अल्लाह तमाम मुसलमानों को दीन और दुनिया दोनों में कामयाबी अता फरमा !!! 
(4) - या अल्लाह तमाम मुसलमानो को दीन ए इस्लाम की तालीम हासिल करने कवकी तौफीक अता फरमा आमीन !!! 
(5) - या रब तमाम मस्जिदों और इबादतगाहों की हिफाज़त अता फरमा आमीन !!! 
(6) - या अल्लाह हम सब के ईमान की हिफाजत अता फरमा आमीन !!!

जब आप दुआ मांग ले तो आखिर में 3 मर्तबा दरूदे पाक जरूर भेजें हदीसों में आया है; जिस दुआ की शुरुआत और खत्म नबी सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम पर दुरूद भेजने से होती है, तो वह दुआ रद्द नही होती.

आज आपने क्या जाना?

आज हमने Sehri me dua kaise mange, sehri se pahle ki dua in hindi में जाना जिससे आप सहरी के वक्त इन चीजों को पढ़कर अपनी दुआओं को कबूल करवा सकते हैं. उम्मीद है ! आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई होगी.

दोस्तों सेहरी का वक्त रहमत वाला होता है, इस वक्त दुआ कबूल होती है; इसलिए आप इन दुआओं को अपने लबों पर जरूर लाएं ताकि तमाम मुसलमानों का फायदा हो और आपका भी.

आपको यह Sehri se Pahle ki Dua पोस्ट कैसी लगी, और आप हमें क्या सलाह देना चाहते हैं? कमेंट में जरूर बताएं अल्लाह हाफिज रमजान मुबारक !!!

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *