Qurani Islamic Dua in Hindi Translation Ke Sath

qurani islamic dua
Rate this post

इस पोस्ट में हम आप लोगों को Qurani Islamic Dua in Hindi Translation के साथ बता रहे है. इस में बताई गई सभी दुआएं अंबिया अलैहिमुस्सलाम की दुआएं है जो क़ुरआन करीम में ज़िक्र की गई है। अंबिया अलैहिमुस्सलाम की Dua in Hindi Language और अरबी दोनों में बताई गई है।

आप से गुज़ारिश है के दुआ को अरबी में ही पढ़े और याद करें कियुंके अरबी के तलफ़्फ़ुज़ का धियान रखते हुए पढ़ना बहुत ज़रूरी है अरबी में सेम तलफ़्फ़ुज़ के हुरूफ़ है मिसाल के तौर पर अगर कोई (ذ) की जगा (ز) पढ़ता है तो लफ्ज़ का माना बदल जाता है जिससे पढ़ने वाले को गुनाह भी मिल सकता है। इसिलए क़ुरआन मजीद सही से पढ़ने के लिए अरबी में ही पढ़ा जाए। आप सब जानते है क़ुरआन के एक हर्फ़ के पढ़ने पर 10 नेकियां मिलती है।

ये दुआ भी देखें:

Istikhara Ki Dua Tarika Kya Hai

Dua Mangne Ka Tarika

Safar ki Dua

Namaz ke Baad ki Dua in Hindi

Nazar Ki Dua

Qurani Islamic Dua in Hindi Translation

आदम आलिहिस्सलाम की दुआ हिंदी में

1. दुआ हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi Translation

رَبَّنا ظَلَمنا أَنفُسَنا وَإِن لَم تَغفِر لَنا وَتَرحَمنا لَنَكونَنَّ مِنَ الخاسِرينَ

दुआ हिंदी: रब्बना ज़लमना अन्फ़ुसा व इल्लम तग्फ़िरलना व तरहमना ल-नकूनन्न मिनल ख़ासिरीन (अल-आराफ़ 23)

तर्जुमा: ए हमारे रब हमने अपनी जनों पर ज़ुल्म किया है। अगर तूने हमारी मग्फ़िरत न की और हम पर रहम न किया तो हम नुक़्सान पाने वोलो में से होजाएंगे।

नूह आलिहिस्सलाम की दुआ हिंदी में

2. दुआ हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi Translation

رَبِّ إِنّي أَعوذُ بِكَ أَن أَسأَلَكَ ما لَيسَ لي بِهِ عِلمٌ ۖ وَإِلّا تَغفِر لي وَتَرحَمني أَكُن مِنَ الخاسِرينَ

दुआ हिंदी: रब्बि इन्नी अऊज़ूबिका मा लैस ली बिही इलमुन ۖ व इल्ला तग़फ़िरली व तरहमनी अकुम मिनल ख़ासिरीन (हूद 47)

तर्जुमा: ए मेरे रब में तेरी पनाह चाहता हु इस बात से के में तुझसे वो मांगू जिस का मुझे इल्म न हो। और अगर तूने मुझे न बख़्शा और मुझ पर रहम न किया तो में ख़सारा पाने वालों में से होजाऊंगा।

3. दुआ हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi Translation

 رَبِّ إِنَّ قَومي كَذَّبونِ

فَافتَح بَيني وَبَينَهُم فَتحًا وَنَجِّني وَمَن مَعِيَ مِنَ المُؤمِنينَ

दुआ हिंदी: रब्बि इन्ना क़ौमी क़ज़्ज़बून Ο फ़फ़तह बैनी व बैनहुम फ़त-हव व नज्जिनी व मम-मइया मिनल मुअ मिनीन (अल-शुअरा 117,118)

तर्जुमा: ए मेरे रब मेरी क़ौम ने मुझे झुटला दिया, पस तू मुझमे और उनमे कोई क़तइ फैसला करदे और मुझे और मेरे बा-इमान साथियों को निजात दे।

4. दुआ हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi Translation

رَبِّ أَنزِلني مُنزَلًا مُبارَكًا وَأَنتَ خَيرُ المُنزِلينَ

दुआ हिंदी: रब्बि अन्ज़िलनी मुनज़लम मुबारकन व अंता खैरुल मुनज़िमुन लीन (अल-मुअमिनून 29)

तर्जुमा: ए मेरे रब मुझे बा-बरकत उतार और तुहि बेहतर उतरने वाला है।

5. दुआ हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi Translation

الحَمدُ لِلَّهِ الَّذي نَجّانا مِنَ القَومِ الظّالِمينَ

दुआ हिंदी: अल्हम्दु लिल्लाहिल्लज़ी नज्जाना मिनल क़ौमिज़्ज़ालिमीन (अल-मुअमिनून 28)

तर्जुमा: सब तारीफ़ अल्लाह ही के लिए है जिसने हमें ज़ालिम क़ौम से निजात दी।

6. दुआ हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi Translation

رَبِّ لا تَذَر عَلَى الأَرضِ مِنَ الكافِرينَ دَيّارًا

إِنَّكَ إِن تَذَرهُم يُضِلّوا عِبادَكَ وَلا يَلِدوا إِلّا فاجِرًا كَفّارًا

رَبِّ اغفِر لي وَلِوالِدَيَّ وَلِمَن دَخَلَ بَيتِيَ مُؤمِنًا وَلِلمُؤمِنينَ وَالمُؤمِناتِ وَلا تَزِدِ الظّالِمينَ إِلّا تَبارًا

दुआ हिंदी: रब्बि लातज़र अलल-अरज़ि मिनल काफ़िरीना दय्यारा Ο इन्नका इंतज़रहुम युज़िल्लू इबादका वला यलिदु इल्ला फ़ाजिरन कफ़्फ़ारा Ο रब्बिग़ फ़िरली वलि वालिदय्या व लिमन दखला बैतिया मुअमिनौ व-लिल मुअमिनीना वल- मुअमिनति वला तज़ि दिज़ज़ालिमीना इल्ला तबारा (नूह 26-28)

तर्जुमा: ए मेरे परवरदिगार तू ज़मीन पर किसी क़ाफ़िर को रहने सहने वाला न छोड़। अगर तू उन्हें छोड़देंगा तो ये तेरे बन्दों को गुमराह करेंगे। और ये फ़ाजिरों और ढीट काफ़िरों को ही जनम देंगे। ए मेरे रब तू मझे और मेरे माँ बाप और जो भी ईमानदार हो कर मेरे घर में आए और तमाम मोमिन मर्दों और मोमिन औरतों को बख़्श दे और काफ़िरों को सिवाए बर्बादी के और किसी बात में न बढ़ा।

7. दुआ हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

أَنّي مَغلوبٌ فَانتَصِر

दुआ हिंदी: अन्नी मग़लूबुन फ़न्तसिर

तर्जुमा: (ए मेरे रब) में बेबस होगया हूँ तू मेरी मदद फ़रमा।

इब्राहीम और इस्माइल अलैहिमुस्सलाम की दुआ हिंदी में

8. दुआ हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ ٱجْعَلْ هَٰذَا بَلَدًا ءَامِنًۭا وَٱرْزُقْ أَهْلَهُۥ مِنَ ٱلثَّمَرَٰتِ مَنْ ءَامَنَ مِنْهُم بِٱللَّهِ وَٱلْيَوْمِ ٱلْءَاخِرِ

दुआ हिंदी: रबबिज अल हाज़ा ब-ल-दन आमिनव वरज़ुक़ अहलहु मिनस-समाराति मन आमान मिन्हुम बिल्लाहि वल यौमिल आख़िरि (अल-बक़रह 126)

तर्जुमा: ए मेरे रब तू इस जगा को अम्न वाला शहर बना दे और यहाँ के रहने वालों को जो अल्लाह तआला पर और क़यामत के दिन पर इमान रखने वाले हों फ़लों की रोज़ियाँ दे।

9. दुआ हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبَّنَا تَقَبَّلْ مِنَّآ ۖ إِنَّكَ أَنتَ ٱلسَّمِيعُ ٱلْعَلِيمُ

  رَبَّنَا وَٱجْعَلْنَا مُسْلِمَيْنِ لَكَ وَمِن ذُرِّيَّتِنَآ أُمَّةًۭ مُّسْلِمَةًۭ لَّكَ وَأَرِنَا مَنَاسِكَنَا وَتُبْ عَلَيْنَآ ۖ إِنَّكَ أَنتَ ٱلتَّوَّابُ ٱلرَّحِيمُ

رَبَّنَا وَٱبْعَثْ فِيهِمْ رَسُولًۭا مِّنْهُمْ يَتْلُوا۟ عَلَيْهِمْ ءَايَٰتِكَ وَيُعَلِّمُهُمُ ٱلْكِتَٰبَ وَٱلْحِكْمَةَ وَيُزَكِّيهِمْ ۚ إِنَّكَ أَنتَ ٱلْعَزِيزُ ٱلْحَكِيمُ

दुआ हिंदी: रब्बना तक़ब्बल मिन्ना इन्नका अंतस समीउल-अलीम Ο रब्बना वज-अलना मुस्लिमैनि लका व मिन ज़ुर्रिययति उम-मतम मुस्लिमतल लका व अरिना मनासिकना व तुब अलैना इन्नका अंतत-तव्वाबुर राहीम Ο रब्बना वब-अस फ़ीहिम रसूलम मिन्हुम यतलू अलैहिम आयातिका व यु-अललिमु-हुमुल किताबा वल हिकमता व युज़क्कीहिम इन्नका अंतत तव्वाबुर रहीम (अल-बक़रह 127-129)

तर्जुमा: ए हमारे रब तू हमसे क़बूल फ़रमा बेशक तुहि सुनने वाला और जानना वाला है। ए हमारे रब हमें अपना फ़र्मांबरदार बनाले और हमारी औलाद में से भी एक जमाअत फ़र्मांबरदार रख और हमें अपनी इबादतें सीखा और हमारी तौबा क़बूल फ़रमा, बेशक तू तौबा क़बूल फ़रमाने वाला और रहम करने वाला है। ए हमारे परवरदिगार इन में इन्ही में से रसूल भेज जो उनके पास तेरी आयतें तिलावत फ़रमाए, उन्हें किताब व हिकमत सिखाए और उन्हें पाक करे बेशक तू ग़ालिब हिकमत वाला है।

10. दुआ हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ ٱجْعَلْ هَٰذَا ٱلْبَلَدَ ءَامِنًۭا وَٱجْنُبْنِى وَبَنِىَّ أَن نَّعْبُدَ ٱلْأَصْنَامَ

رَبِّ إِنَّهُنَّ أَضْلَلْنَ كَثِيرًۭا مِّنَ ٱلنَّاسِ ۖ فَمَن تَبِعَنِى فَإِنَّهُۥ مِنِّى ۖ وَمَنْ عَصَانِى فَإِنَّكَ غَفُورٌۭ رَّحِيمٌۭ

رَّبَّنَآ إِنِّىٓ أَسْكَنتُ مِن ذُرِّيَّتِى بِوَادٍ غَيْرِ ذِى زَرْعٍ عِندَ بَيْتِكَ ٱلْمُحَرَّمِ رَبَّنَا لِيُقِيمُوا۟ ٱلصَّلَوٰةَ فَٱجْعَلْ أَفْـِٔدَةًۭ مِّنَ ٱلنَّاسِ تَهْوِىٓ إِلَيْهِمْ وَٱرْزُقْهُم مِّنَ ٱلثَّمَرَٰتِ لَعَلَّهُمْ يَشْكُرُونَ

رَبَّنَآ إِنَّكَ تَعْلَمُ مَا نُخْفِى وَمَا نُعْلِنُ ۗ وَمَا يَخْفَىٰ عَلَى ٱللَّهِ مِن شَىْءٍۢ فِى ٱلْأَرْضِ وَلَا فِى ٱلسَّمَآءِ

ٱلْحَمْدُ لِلَّهِ ٱلَّذِى وَهَبَ لِى عَلَى ٱلْكِبَرِ إِسْمَٰعِيلَ وَإِسْحَٰقَ ۚ إِنَّ رَبِّى لَسَمِيعُ ٱلدُّعَآءِ

رَبِّ ٱجْعَلْنِى مُقِيمَ ٱلصَّلَوٰةِ وَمِن ذُرِّيَّتِى ۚ رَبَّنَا وَتَقَبَّلْ دُعَآءِ

رَبَّنَا ٱغْفِرْ لِى وَلِوَٰلِدَىَّ وَلِلْمُؤْمِنِينَ يَوْمَ يَقُومُ ٱلْحِسَابُ

दुआ हिंदी: रबबिजअल हाज़ल ब-लदा आमिनौ वजनुबनी व-बनिय्या अन्नाअ बुदल-असनाम Ο रब्बि इन्ना हुन्ना अज़ललना कसीरम मीनन नास फ़मन तबिअनी फ़इन्नहु मिन्नी व मन असानी फ़इन्नका ग़फ़ूरुर रहीम Ο रब्बना इन्नी असकंतु मिन ज़ुर्रिय्यति बिवादिन गैरा ज़ि ज़रइन इनदा बैतिकल मुहर्रमि रब्बना लियुक़िमुस्सलाता फ़ज-अल अफ़इदतम मिनन्नासी तहवी इलैहिम वर ज़ुक़हुम मिनस्समाराति लअल्लहुम यशकुरून Ο रब्बना इन्नका तअलमु मा नुखफ़ि वमा नुअलिन वमा यख़फ़ा अलल्लाहि मिन शैइन फ़िल अरज़ि वला फ़िस्समा Ο अल्हम्दु लिल्लाहिल्लज़ी वहबा ली अलल किबरी इस्माइला व इस्हाक़ा इन्ना रब्बी लसमी उद्दुआ Ο रबबिज अलनी मुक़ीमस्सलाति व मिन ज़ुर्रिययति रब्बना व तक़ब्बल दुआ Ο रब्बनगफ़िरली वलि वालिदय्या व लिल मुअमिनीना यौम यक़ूमुल हिसाब (इब्राहीम 35-41)

तर्जुमा: ए मेरे रब इस शहर को अम्न वाला बनादे और मुझे और मेरी औलाद को बुत परस्ती से निजात दे। ए मेरे रब बेशक बुतों ने बहुत से लोगों को रासते से भटका दिया है। जिस ने मेरा साथ दिया वो मेरा है और जो मेरी ना फ़रमानी करे तो तू बहुत ही मुआफ़ और करम करने वाला है। ए हमारे रब मेने अपनी कुछ औलाद इस बे ख़ेती की वादी में तेरे हुरमत वाले घर के पास बसाई है। ए हमारे रब इस लिए के वह नमाज़ क़ाइम रखें। पस तू कुछ लोगों के दिलों को उनकी तरफ़ माइल करदे और उन्हें फ़लों कि रोज़ियाँ अता फ़रमा ताके ये शुक्र गुज़ारी करें। ए हमारे रब तू ख़ूब जानता है, जो हम छुपाए और ज़ाहिर करें, ज़मीन व आसमान कि कोई चीज़ अल्लाह पर पौशीदा नहीं। अल्लाह का शुक्र है जिसने मुझे बुढ़ापे में इस्माइल और इस्हाक़ अता फ़रमाए, कुछ शक नहीं के मेरा रब दुआओ का सुनने वाला है। ए मेरे रब मुझे नमाज़ का पाबंद रख और मेरी औलाद से भी, ए हमारे रब हमारी दुआ क़बूल फ़रमा। ए हमारे रब मुझे बख़्श दे और मेरे माँ बाप को भी बख़्श और दीगर मोमिनों को भी बख़्श जिस दिन हिसाब होने लगे।

11. दुआ हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ هَبْ لِى حُكْمًۭا وَأَلْحِقْنِى بِٱلصَّٰلِحِينَ

وَٱجْعَل لِّى لِسَانَ صِدْقٍۢ فِى ٱلْءَاخِرِينَ

وَٱجْعَلْنِى مِن وَرَثَةِ جَنَّةِ ٱلنَّعِيمِ

وَٱغْفِرْ لِأَبِىٓ إِنَّهُۥ كَانَ مِنَ ٱلضَّآلِّينَ

وَلَا تُخْزِنِى يَوْمَ يُبْعَثُونَ

يَوْمَ لَا يَنفَعُ مَالٌۭ وَلَا بَنُونَ

إِلَّا مَنْ أَتَى ٱللَّهَ بِقَلْبٍۢ سَلِيمٍۢ

दुआ हिंदी: रब्बि हब्ली हुक्मव वलहिक़नी बिस्सालिहीन Ο वज-अल्ली लिसाना सिदक़िन फ़िल आख़िरीन Ο वज अलनी मिव-वरसति जन्नतिन नईम Ο वग़फ़िरलि-अबी इन्नहू कान मिनज़्ज़ाललीन Ο वला तुखज़िनी यौम युबअसून Ο यौम ला यनफ़उ मलुव वला बनून Ο इल्ला मन अतल्लाहु बिक़ल्बिन सलीम Ο (अल-शुअरा 83-89)

तर्जुमा: ए मेरे रब मुझे क़ुव्वते फैसला अता फ़रमा और मुझे नैक लोगों में मिलादे और मेरा ज़िक्रे खैर पिछले लोगों में भी बाक़ी रख। मुझे नेमतों वाली जन्नत के वारिसों में बनादे और मेरे बाप को बख़्श दे यक़ीनन वो ग़ुमराहो में से है। और जिस दिन लोग उठाए जाएंगे मुझे रुस्वा न कर, जिस दिन माल और औलाद काम न आएगी। लेकिन फ़ायदा वाला वही होगा जो अल्लाह तआला के सामने बे ऐब दिल लेकर जाए।

12. दुआ हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَّبَّنَا عَلَيْكَ تَوَكَّلْنَا وَإِلَيْكَ أَنَبْنَا وَإِلَيْكَ ٱلْمَصِيرُ

رَبَّنَا لَا تَجْعَلْنَا فِتْنَةًۭ لِّلَّذِينَ كَفَرُوا۟ وَٱغْفِرْ لَنَا رَبَّنَآ ۖ إِنَّكَ أَنتَ ٱلْعَزِيزُ ٱلْحَكِيمُ

दुआ हिंदी: रब्बना अलैका तवक्कलना व इलैका अनबना व इलैकल मसीर Ο रब्बना ला तज अलना फ़ितनतल लिल्लज़ीना कफ़रू वग़फ़िर लना रब्बना, इन्नका अन्तल अज़ीज़ुल हकीम Ο (मुमतहिना 4-5)

तर्जुमा: ए हमारे रब तुझी पर हमने भरोसा किया है और तेरी ही तरफ़ रुजू करते हैं और तेरी ही तरफ़ लौटना हे। ए हमारे रब तू हमें काफ़िरों की आज़माइश में न डाल और ए हमारे रब हमारी ख़ताओं को बख़्श दे बेशक तू ही ग़ालिब हिक्मत वला हे।

13. दुआ हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ هَبْ لِى مِنَ ٱلصَّٰلِحِينَ

दुआ हिंदी: रब्बि हब्ली मिनस सालिहीन (अल-साफ़्फ़ात 100)

तर्जुमा: ए मेरे रब मुझे नेक बख़्त औलाद अता फ़रमा।

लूत आलिहिस्सलाम की दुआ हिंदी में

رَبِّ نَجِّنِى وَأَهْلِى مِمَّا يَعْمَلُونَ

14. दुआ हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

दुआ हिंदी: रब्बि नज्ज़िनी व अहली मिम्मा यअ-मलून (अल-शुअरा 169)

तर्जुमा: ए मेरे रब मुझे और मेरे घर वालों को उनके काम से बचा जो ये करते है।

15. दुआ हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ ٱنصُرْنِى عَلَى ٱلْقَوْمِ ٱلْمُفْسِدِينَ

दुआ हिंदी: रब्बिंसुरनी अलल क़ौमिल मुफ़सिदीन

तर्जुमा: ए मेरे रब इस फ़सादी क़ौम पर मेरी मदद फ़रमा

याक़ूब आलिहिस्सलाम की दुआ हिंदी में

16. क़ुरआनी दुआएं | Qurani Islamic Dua in Hindi

 إِنَّمَآ أَشْكُوا۟ بَثِّى وَحُزْنِىٓ إِلَى ٱللَّهِ

दुआ हिंदी: इन्नमा अशकू बस्सी व हुज़्नी इलल्लाह (यूसुफ़ 86)

तर्जुमा: में तो अपनी परेशानियों और ग़म की फ़र्याद अल्लाह ही से करता हू।

यूसुफ़ आलिहिस्सलाम की दुआ हिंदी में

17. क़ुरआनी दुआएं | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ ٱلسِّجْنُ أَحَبُّ إِلَىَّ مِمَّا يَدْعُونَنِىٓ إِلَيْهِ ۖ وَإِلَّا تَصْرِفْ عَنِّى كَيْدَهُنَّ أَصْبُ إِلَيْهِنَّ وَأَكُن مِّنَ ٱلْجَٰهِلِينَ

दुआ हिंदी: रब्बिस सिजनु अहब्बु इलैय्या मिम्मा यद्ऊननी इलैहि, व इल्ला तसरिफ़ अन्नी कैदहुन्ना असबु इलैहिन्ना व अकुम मिनल जाहिलीन (सूरह यूसुफ़ 33)

तर्जुमा: ए मेरे रब जिस बात की तरफ़ ये औरतें मुझे बुलारहि है इससे तो क़ैद खाना मुझे बहुत पसंद है। अगर तूने इनका मक्र फ़रेब मुझसे दूर न किया तो में इनकी तरफ़ माइल होजाऊंगा और बिलकुल नादानों में मिल जाऊंगा।

18. क़ुरआनी दुआएं | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ قَدْ ءَاتَيْتَنِى مِنَ ٱلْمُلْكِ وَعَلَّمْتَنِى مِن تَأْوِيلِ ٱلْأَحَادِيثِ ۚ فَاطِرَ ٱلسَّمَٰوَٰتِ وَٱلْأَرْضِ أَنتَ وَلِىِّۦ فِى ٱلدُّنْيَا وَٱلْءَاخِرَةِ ۖ تَوَفَّنِى مُسْلِمًۭا وَأَلْحِقْنِى بِٱلصَّٰلِحِينَ

दुआ हिंदी: रब्बि क़द आतैतनी मिनल मुलकि व अल्लमतनी मिन ताअ-वीलिल अहादीसि, फ़ातिरिस्समावाति वल अरज़ि, अंता वलिय्यी फ़िद्दुन्या वल आख़िरति, तवफ़्फ़नी मुस्लिमौ व अल हिक़नी बिस्सालिहीन (सूरह यूसुफ़ 101)

तर्जुमा: ए मेरे रब बेशक तूने मुझे एक सल्तनत दी और मुझे कुछ बातों का अंजाम निकालना सिखाया तुहि दुन्या व आख़िरत में मेरा वली (दोस्त) और कार साज़ है, तू मुझे इस्लाम की हालत में फ़ौत कर और नेकों में मिलादे।

शुएब आलिहिस्सलाम की दुआ हिंदी में

19. क़ुरआनी दुआएं | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبَّنَا ٱفْتَحْ بَيْنَنَا وَبَيْنَ قَوْمِنَا بِٱلْحَقِّ وَأَنتَ خَيْرُ ٱلْفَٰتِحِينَ

दुआ हिंदी: रब्बनफ़-तह बैनना व बैना क़ौमिना बिल हक़्क़ि व अंता खैरुल फ़ातिहीन (अल-आराफ़ 89)

तर्जुमा: ए हमारे रब हमारे और हमारी क़ौम के दर्मियान हक़ के मुवाफ़िक़ फैसला करदे और तू सबसे अच्छा फैसला करने वाला है।

मूसा आलिहिस्सलाम की दुआ हिंदी में

20. क़ुरआनी दुआएं | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ إِنِّى لَآ أَمْلِكُ إِلَّا نَفْسِى وَأَخِى ۖ فَٱفْرُقْ بَيْنَنَا وَبَيْنَ ٱلْقَوْمِ ٱلْفَٰسِقِينَ

दुआ हिंदी: रब्बि इन्नी ला अम्लिकु इल्ला नफ़्सी व अखी फ़फ़रुक़ बैनना व बैनल क़ौमिल फ़ासिदीन (अल-माइदह 25)

तर्जुमा: ए मेरे रब मुझे अपने और अपने भाई के किसी और पर कोई इख़्तियार नहीं, पस तू हम में और उन नाफ़रमानों में जुदाई करदे।

21. क़ुरआनी दुआएं | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ ٱغْفِرْ لِى وَلِأَخِى وَأَدْخِلْنَا فِى رَحْمَتِكَ ۖ وَأَنتَ أَرْحَمُ ٱلرَّٰحِمِينَ

दुआ हिंदी: रब्बिग़ फ़िरली वलि अखी व अदखिलना फ़ी रहमतिका, व अंता अरहमुर राहिमीन (अल-आराफ़ 151)

तर्जुमा: ए मेरे रब मेरी और मेरे भाई की खता मुआफ़ फ़रमा और हम दोनों को अपनी रहमत में दाख़िल फ़रमा और तू सब रहम करने वालों से ज़ियादा रहम करने वाला है।

22. क़ुरआनी दुआएं | Qurani Islamic Dua in Hindi 

أَنتَ وَلِيُّنَا فَٱغْفِرْ لَنَا وَٱرْحَمْنَا ۖ وَأَنتَ خَيْرُ ٱلْغَٰفِرِينَ

وَٱكْتُبْ لَنَا فِى هَٰذِهِ ٱلدُّنْيَا حَسَنَةًۭ وَفِى ٱلْءَاخِرَةِ إِنَّا هُدْنَآ إِلَيْكَ

दुआ हिंदी: अंता वलिय्युना फ़ग़फ़िर लना वर हमना व अंता खैरुल गाफ़िरीन Ο वक्तुब लना फ़ी हाज़िहिद दुन्या हसनतौ व फ़िल आख़िरति इन्ना हुदना इलैक, (अल-आराफ़ 155-156)

तर्जुमा: तू ही हमारा कारसाज़ है, पस तू हमें बख़्श दे और हम पर रहमत फ़रमा और तू सब से बेहतर बख़्शने वाला है। और हम लोगों के नाम दुन्या में भी नेक हाली लिख दे और आख़िरत में भी हम तेरी तरफ़ रुजू करते हैं।

23. क़ुरआनी दुआएं | Qurani Islamic Dua in Hindi 

رَبَّنَآ إِنَّكَ ءَاتَيْتَ فِرْعَوْنَ وَمَلَأَهُۥ زِينَةًۭ وَأَمْوَٰلًۭا فِى ٱلْحَيَوٰةِ ٱلدُّنْيَا رَبَّنَا لِيُضِلُّوا۟ عَن سَبِيلِكَ ۖ رَبَّنَا ٱطْمِسْ عَلَىٰٓ أَمْوَٰلِهِمْ وَٱشْدُدْ عَلَىٰ قُلُوبِهِمْ فَلَا يُؤْمِنُوا۟ حَتَّىٰ يَرَوُا۟ ٱلْعَذَابَ ٱلْأَلِيمَ

दुआ हिंदी: रब्बना इन्नका आतैता फ़िरऔन व मला अहू ज़ीनतौ व अमवालन फ़िल हयातिद दुन्या रब्बना लियुज़िल्लू अन सबीलिका, रब्बनतमिस अला अमवालिहिम वशदुद अला क़ुलूबिहिम फ़ला युअ मिनू हत्ता यरा वुल अज़ाबल अलीम (यूनुस 88)

तर्जुमा: ए हमारे रब तू ने फ़िरऔन और उसके सरदारों को आराइश और तरह तरह के माल दुन्यावी ज़िन्दगी में दिए है। ए हमारे रब (इसी लिये दिए है के) वह तेरी राह से गुमराह करें। ए हमरे रब उनके मालों को बर्बाद करदे और उनके दिलों को सख़्त करदे के ईमान न लाए जब तक दर्दनाक अज़ाब को न देख लें।

24. क़ुरआनी दुआएं | Qurani Islamic Dua in Hindi 

رَبِّ ٱشْرَحْ لِى صَدْرِى

وَيَسِّرْ لِىٓ أَمْرِى

وَٱحْلُلْ عُقْدَةًۭ مِّن لِّسَانِى

يَفْقَهُوا۟ قَوْلِى

दुआ हिंदी: रब्बिश रहली सदरी Ο व यस्सिरली अमरी Ο वहलुल उक़दतम मिललि सानी Ο यफ़क़हू क़ौली (ताहा 25-28)

तर्जुमा: ए मेरे रब मेरा सीना मेरे लिये खोल दे और मेरे काम को मुझ पर आसान करदे और मेरी ज़ुबान की गिरह भी खोल दे ताके लोग मेरी बात को अच्छी तरह समझ सकें।

25. क़ुरआनी दुआएं | Qurani Islamic Dua in Hindi 

رَبِّ إِنِّى ظَلَمْتُ نَفْسِى فَٱغْفِرْ لِى

दुआ हिंदी: रब्बि इन्नी ज़लमतु नफ़्सी फ़गफ़िरली (अल-क़सस 16)

तर्जुमा: ए मेरे रब मेने अपने ऊपर ज़ुल्म किया है तु मुझे मुआफ़ फ़रमा दे

26. क़ुरआनी दुआएं | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ نَجِّنِى مِنَ ٱلْقَوْمِ ٱلظَّٰلِمِينَ

दुआ हिंदी: रब्बि नजजिनी मिनल क़ौमिज़्ज़ालिमीन (अल-क़सस 21)

तर्जुमा: ए मेरे रब मुझे ज़ालिमों के गिरोह से बचा

27. क़ुरआनी दुआएं | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ إِنِّى لِمَآ أَنزَلْتَ إِلَىَّ مِنْ خَيْرٍۢ فَقِيرٌۭ

दुआ हिंदी: रब्बि इन्नी लिमा अनज़लतु इलय्या मिन ख़ैरिन फ़क़ीर (अल-क़सस 24)

तर्जुमा: ए मेरे रब तू जो कुछ भलाई मेरी तरफ़ उतारे में उसका मुहताज हूं।

अय्यूब आलिहिस्सलाम की दुआ हिंदी में

28. क़ुरआनी दुआएं | Qurani Islamic Dua in Hindi

أَنِّى مَسَّنِىَ ٱلضُّرُّ وَأَنتَ أَرْحَمُ ٱلرَّٰحِمِينَ

दुआ हिंदी: अन्नी मस्सनियज़ ज़ुर्रू व अंता अरहमुर राहिमीन (अल-अंबिया 83)

तर्जुमा: (ए मेरे रब) मुझे ये तकलीफ़ पहुंची है और तू रहम करने वालों से ज़ियादा रहम करने वाला है।

29. क़ुरआनी दुआएं | Qurani Islamic Dua in Hindi

أَنِّى مَسَّنِىَ ٱلشَّيْطَٰنُ بِنُصْبٍۢ وَعَذَابٍ

दुआ हिंदी: अन्नी मस्सनियश शैतानु बिनुसबिव व अज़ाब (सोद 41)

तर्जुमा: (ए मेरे रब) मुझे शैतान ने रंज और दुख पहुंचाया है।

यूनुस आलिहिस्सलाम की दुआ हिंदी में

30. क़ुरआनी दुआएं | Qurani Islamic Dua in Hindi

لَّآ إِلَٰهَ إِلَّآ أَنتَ سُبْحَٰنَكَ إِنِّى كُنتُ مِنَ ٱلظَّٰلِمِينَ

दुआ हिंदी: ला इलाहा इल्ला अंता सुब्हानका इन्नी कुन्तु मिनज़ ज़ालिमीन (अल-अंबिया 87)

तर्जुमा: तेरे सिवा कोई सच्चा माबूद नहीं तू पाक है, बेशक में ज़ालिमों में होगया।

सुलैमान आलिहिस्सलाम की दुआ हिंदी में

31. क़ुरआनी दुआएं हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ أَوْزِعْنِىٓ أَنْ أَشْكُرَ نِعْمَتَكَ ٱلَّتِىٓ أَنْعَمْتَ عَلَىَّ وَعَلَىٰ وَٰلِدَىَّ وَأَنْ أَعْمَلَ صَٰلِحًۭا تَرْضَىٰهُ وَأَدْخِلْنِى بِرَحْمَتِكَ فِى عِبَادِكَ ٱلصَّٰلِحِينَ

दुआ हिंदी: रब्बि औ ज़िअनी अन अश्कुरा निअमता कल्लति अनअमता अलय्या व अला वलिदय्या व अन अअ सलिहन तरज़ाहु व अदख़िलनी बिरहमतिका फ़ी इबादिकस सालिहीन (अल-नमल 19)

तर्जुमा: ए मेरे रब मुझे तौफ़ीक़ दे के में शुक्र करू तेरी नेमतों का जो तूने मुझ पर और मेरे माँ बाप पर की हैं और में ऐसे नेक आमाल करता रहू जिन से तू खूश रहे और मुझे अपने नेक बन्दों में शामिल करले।

32. क़ुरआनी दुआएं हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ ٱغْفِرْ لِى وَهَبْ لِى مُلْكًۭا لَّا يَنۢبَغِى لِأَحَدٍۢ مِّنۢ بَعْدِىٓ ۖ إِنَّكَ أَنتَ ٱلْوَهَّابُ

दुआ हिंदी: रबबिग़ फ़िरली व हब ली मुल्कल ला यमबग़ी लि अहादिम मिम बअदी, इन्नका अन्तल वह्हाब (सोद 35)

तर्जुमा: ए मेरे रब मुझे बख़्श दे और मुझे ऐसी सल्तनत अता फ़रमा जो मेरे बाद किसी को लाइक न हो, बेशक तू ही बड़ा देने वाला है।

ज़करियया आलिहिस्सलाम की दुआ हिंदी में

33. क़ुरआनी दुआएं हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ هَبْ لِى مِن لَّدُنكَ ذُرِّيَّةًۭ طَيِّبَةً ۖ إِنَّكَ سَمِيعُ ٱلدُّعَآءِ

दुआ हिंदी: रब्बि हब्ली मिललदुनका ज़ुर-रिय्यतन तैय्यिबह, इन्नका समी उददुआ (आल-इमरान 38)

तर्जुमा: ए मेरे रब मुझे अपने पास से पाकीज़ह औलाद अता फ़र्मा, बेशक तू ही दुआ सुनने वाला है।

34. क़ुरआनी दुआएं हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ لَا تَذَرْنِى فَرْدًۭا وَأَنتَ خَيْرُ ٱلْوَٰرِثِينَ

दुआ हिंदी: रब्बि ला तज़र्नी फ़रदौ व अंता खैरुल वारिसीन (अल-अंबिया 89)

तर्जुमा: ए मेरे रब मुझे अकेला न छोड़ और तू सब से बेहतर वारिस है

ईसा आलिहिस्सलाम की दुआ हिंदी में

35. क़ुरआनी दुआएं हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

ٱللَّهُمَّ رَبَّنَآ أَنزِلْ عَلَيْنَا مَآئِدَةًۭ مِّنَ ٱلسَّمَآءِ تَكُونُ لَنَا عِيدًۭا لِّأَوَّلِنَا وَءَاخِرِنَا وَءَايَةًۭ مِّنكَ ۖ وَٱرْزُقْنَا وَأَنتَ خَيْرُ ٱلرَّٰزِقِينَ

दुआ हिंदी: अल्लाहुम्मा रब्बना अनज़िल अलैना मा इदतम मिनस समाइ तकूनु लना ईदल लि अव्वलिना व आखिरिना व आयतम मिनका, वरज़ूक़ना व अंता ख़ैरूर राज़िक़ीन (अल-माइदह 114)

तर्जुमा: ए अल्लाह ए हमारे रब हमारे लिए आसमान से खाना नाज़िल फ़रमा के वो हमारे लिए यानी हम में जो पिछले और जो बाद के है सब के लिए खूशी की बात होजाए और तेरी तरफ़ से एक निशानी होजाए और तू हमें रिज़्क़ अता फ़रमा और तू सब से बेहतर रोज़ी देने वाला है।

मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम की दुआ हिंदी में

36. क़ुरआनी दुआएं हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ أَدخِلني مُدخَلَ صِدقٍ وَأَخرِجني مُخرَجَ صِدقٍ وَاجعَل لي مِن لَدُنكَ سُلطانًا نَصيرًا

दुआ हिंदी: रब्बि अदखिलनी मुदख़ला सिदक़िव व अखरिजनी मुख़रजा सिदक़िव वज अल्ली मिल्ल दुनका सुल्तानन नसीरा (बनी इस्राईल 80)

तर्जुमा:ए मेरे रब मुझे जहां लेजा अच्छी तरह लेजा और अच्छी तरह निकाल और मेरे लिए अपने पास से ग़लबा अता फ़रमा ।

37. क़ुरआनी दुआएं हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ زِدني عِلمًا

दुआ हिंदी: रब्बि ज़िदनी इल्मा (ताहा 114)

तर्जुमा: ए मेरे रब मेरे इल्म में इज़ाफ़ा फ़रमा

38. क़ुरआनी दुआएं हिंदी में | Qurani Islamic Dua in Hindi

رَبِّ احكُم بِالحَقِّ ۗ وَرَبُّنَا الرَّحمٰنُ المُستَعانُ عَلىٰ ما تَصِفونَ

दुआ हिंदी: रब्बिह कुम बिलहक़, व रब्बुनर रहमानुल मुस्तआनु अला मा तसिफ़ून (अल-अंबिया 112)

तर्जुमा: ए मेरे रब हक़ फैसला फ़रमा दे और हमारा रब बड़ा मेहरबान है जिस से मदद तलब की जाती है उन बातों पर जो तुम करते हो ।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.