Istikhara Ki Dua Tarika Kya Hai Hindi, Urdu Mein Jane | इस्तिखारा की दुआ

Istikhara Ki Dua
Rate this post

किसी भी काम, कारोबार या शादी के लिए इस्तिखारा ज़रूर करना चाहिये। इस्तिखारा की बहुत फ़ज़ीलत हदीस शरीफ़ में आई है। अगर आप जानना चाहते है कि इस्तिखारा की दुआ क्या है और इस्तिखारा का तरीका किया है तो इस पोस्ट को पूरा पढ़े हम Istikhara Ki Dua दुआ और Istikhara Ka Tarika सही हदीस में जो है वो बता रहे है।

इस्तिखारा की दुआ कब पढ़े: इस्तिखारा किसी भी मामले में भलाई पाने के लिए इस अमल के करने को इस्तिखार कहते है। इस्तिखारा (Istikhara) के लिए 2 रकअत नमाज़ और खास दुआ के ज़रिए अल्लाह तआला से किसी भी काम की भलाई और अंजाम कार की अच्छाई का सवाल किया जाता है, या फिर दो कामो में से किसी एक के लिए अल्लाह तआला से मदद मांगने को इस्तिखार कहते है। किसी भी काम जैसे कारोबार या लेनदेन के मामले में istikhara करना चाहिये। इस्तिखरा के लिये इस्तिखारा की दुआ हिन्दी में इस लेख में बताई गई है।

हमने Istikhara Ki Dua और इस्तीखरा का तरीका हिंदी में बताया है आप इस्तिखारा की दुआ को याद करलें और अगर याद नहीं है तो Istikhara Ki Dua देख कर भी पढ़ सकते है। बेहतर ये है के Istikhara Ki Dua अरबी ज़ुबान में ही पढ़े कियुंकि दुआ के तलफ़्फ़ुज़ सही होना चाहिये अगर आप अरबी पढ़ना नहीं जानते तो कोशिश करें अरबी का पढ़ना बहुत आसान है।

इस्तिखारा का मतलब क्या है

Istikhara ka Matlab: किसी मामले में अछ्छाइ और भलाई मांगने को इस्तिखार कहते है।

इस्तिखारा का परिभाषा क्या हैं

Istikhara Ka Definition: ऐसी 2 रकअत नमाज़ और खास दुआ जिस के ज़रीआ अल्लाह से किसी मामले की भलाई और उस काम की बेहतरी का सवाल किया जाता है, या फिर 2 कामों मेसे किसी एक काम को करने या छोड़ देने में अल्लाह तआला से मदद मांगी जाती है।

इस्तिखारा की फ़ज़ीलत

Istikhara Ki Fazilat: इस्तिखारा की फ़ज़ीलत का अंदाज़ा इस बात से आसानी से लगाया जा सकता है कि इस के ज़रीए बंदा अपने रब से किसी काम में गाइड (Guidance) हासिल करने का सवाल करता है।

हदीस: नबी करीम सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम ने फ़रमाया अल्लाह तआला से इस्तिखार करना, और उसके फैसले पर राज़ी होना खूश क़िस्मती है और अल्लाह तआला से इस्तिखारा न करना मुसीबत की अलामत है।

(मुसनद अहमद)

ये भी पढ़े: Dua Mangne Ka Tarika

Istikhara Ki Dua in Arabic

اَللّٰهُمَّ إِنِّي أَسْتَخِيرُكَ بِعِلْمِكَ، وَأَسْتَقْدِرُكَ بِقُدْرَتِكَ، وَأَسْأَلُكَ مِنْ فَضْلِكَ الْعَظِيمِ، فَإِنَّكَ تَقْدِرُ وَلاَ أَقْدِرُ، وَتَعْلَمُ وَلاَ أَعْلَمُ، وَأَنْتَ عَلاَّمُ الْغُيُوبِ، اللَّهُمَّ إِنْ كُنْتَ تَعْلَمُ أَنَّ هَذَا الأَمْرَ‬ خَيْرٌ لِي فِي دِينِي وَمَعَاشِي وَعَاقِبَةِ أَمْرِي فَاقْدُرْهُ لِي، وَيَسِّرْهُ لِي، ثُمَّ بَارِكْ لِي فِيهِ، وَإِنْ كُنْتَ تَعْلَمُ أَنَّ هَذَا الأَمْرَ  شَرٌّ لِي فِي دِينِي وَمَعَاشِي وَعَاقِبَةِ أَمْرِي فَاصْرِفْهُ عَنِّي وَاصْرِفْنِي عَنْهُ، وَاقْدُرْ لِي الْخَيْرَ حَيْثُ كَانَ ثُمَّ أَرْضِنِي بِهِ

नोट: जहा लिखा है यहां काम का नाम ले वहां उस काम का नाम ले और फिर दुआ आगे पढ़े

Istikhara Ki Dua in Urdu Translation

اے الله میں تیرے علم کے ذریعے تجھ سے بھلائی کا سوال کرتا ہوں اور تیری قدرت کے ذریعے ہمت کا طلب گار ہوں۔ اور میں تیرے بہت زیادہ فضل سے سوال کرتا ہوں کیونکہ تو قدرت رکھتا ہے اور میں قدرت نہیں رکھتا، تو جانتا ہے اور میں نہیں جانتا اور تو غیب کو خوب جاننے والا ہے۔ اے میرے الله اگر تو جانتا ہے کہ یہ کام (کام کا نام لے) میرے دین میری معاش (دنیا) اور انجام کار کے اعتبار سے میرے لیے بہتر ہے تو پھر تو اسے میرے مقدر میں کر دے، اور اسے میرے لیے آسان کر دے اور میرے لیے اس میں برکت پیدا فرما . اور اگر تو جانتا ہے یہ کام (کام کا نام لے) میرے دین میری معاش (دنیا) اور انجام کار کے اعتبار سے میرے لیے بُرا ہے  تو اس کو مجھ سے دور کر دے اور مجھے اس سے دور کر دے، اور میرے لیے بہتری اور بھلائی مقدر کر دے چاہے وہ جہاں بھی ہو، پھر مجھے اس سے خوش کر دے۔

Istikhara Ki Dua in Hindi

अल्लाहुम्म इन्नी अस्तखीरु-क बिइलमी-क, व-अस्तक़ दिरु-क बिक़ुदरति-क, व-असअलु-क मिन फ़ज़्लिकल अज़ीम, फ़-इन्न-क तक़दिरु वला अक़्दीर, व-तअ-लमु वला अअ-लम, व अंत अल्लामुल गुयूब, अल्लाहुम्म इन कुंत तअ-लमु अन्न हाज़ल अम-र खैरुल-ली फ़ी दीनी व म-आशी व आक़िबति अमरी फ़क़दुरहु ली, व यस्सिरहु ली सुम्म बारिकली फ़ीहि, व इन कुंत त-अ-लमु अन्न हाज़ल अम-र शर-रुलली फ़ी दीनी व म-आशी व आक़िबति अमरी फ़सरिफहु अन्नी वसरिफ़नी अन्हु, वक़दुर-लि-यलखै-र हैसु का-न सुम्म अर्ज़िनी बिहि

(सही बुख़ारी 1166)

नोट: जहा लिखा है यहां काम का नाम ले वहां उस काम का नाम ले और फिर दुआ आगे पढ़े

Istikhara Ki Dua in Hindi Meaning

ए अल्लाह! में तेरे इल्म के ज़रिए तुझ से भलाई का सवाल करता हु, और तेरी क़ुदरत के ज़रिए हिम्मत का तलब गार हु, और में तेरे बहुत ज़ियादा फ़ज़्ल से सवाल करता हु कियुँकि तू क़ुदरत रखता है और में क़ुदरत नहीं रखता, तू जानता है और में नहीं जानता और तू ग़ैब को खूब जानने वाला है, ए अल्लाह अगर तू जानता है कि ये काम (काम का नाम ले) मेरे दीन मेरी दुन्या और अंजाम कार के ऐतबार से मेरे लिए बेहतर हे तो

फ़िर तू इसे मेरे मुक़द्दर में करदे, और इसे मेरे लिए आसान करदे और मेरे लिए इस में बरकत पैदा फ़रमा. और अगर तू जानता हे ये काम (काम का नाम ले) मेरे दीन दुन्या और अंजाम कार के ऐतबार से मेरे लिए बुरा हे तो इस को मुझ से दूर करदे और मुझे इससे दूर करदे, और मेरे लिए बेहतरी और भलाई मुक़द्दर करदे चाहे वो जहा भी हो, फ़िर मुझे उससे खूश करदे.

नोट: दुआ के कलिमात अरबी में ही पढ़े कियुंकी Arabic भाषा मे हर शब्द का उच्चारण (pronunciation) अलग अलग है। मिसाल के तोर पर (ع) की जगा अगर (الف) पढ़ते है तो उस का मतलब (meaning) बदल जाता है जिस की वजा से दुआ और अर्थ गलत हो जाएग। और अरबी व्याकरण (grammar) के हिसाब से कही खिंच कर और कही जल्दी पढ़ना होता है इसिलए आप लोगो से गुज़ारिश है कि इस का धियान रखें और दुआ को अरबी में ही पढ़े और याद करे।

Istikhara Ki Dua in Roman English

Allahumma Innee Astakheeruka Bi-ilmika, Wa Astaqdiruka Bi-qudratika, Wa As-aluka Min Fazlikal Azeem, Fa-innaka Taqdiru Wala Aqdiru, Wa ta’lamu Wala A’a-lamu, Wa Anta Allamul-guyoob, Allahumma In-kunta Ta’a-lamu Anna Hazal-amra Khairullee Fee Deenee Wa Ma-aashee Wa Aaqibati Amree Faqdurhu Lee, Wa Yassirhu Lee, Summa Baarik Lee Feehi, Wa inkunta Ta’a-lamu Anna Hazal-amra Sharrullee Fee Deenee Wa Ma-aashee Wa Aaqibati Amree Fasrifhu Annee Wasrifnee Anhu, Waqdurli-yal-khaira Haisu Kaana Summa Arzinee Bihi.

Istikhara Ki Dua Ka Tarjuma

Aye Allah me tere ilm ke zarie tujh se bhalai ka sawal karta hun, Aur teri qudrat ke zarie himmat ka talab gaar hun, Aur me tere bahut ziyada fazl se sawal karta hun Kiyunki tu qudra rakhta hai aur me qudrat nahi rakhta, Tu jaanta hai aur me nahi jaanta Aur tu gaib ko khoob janne wala hai, Aye Allah agar tu jaanta hai ki ye kaam (Kaam ka nam le) mere Deen aur Dunya aur amjaam kar ke etbar se mere liye behtar he to phir tu ise mere muqaddar me karde, Aur ise mere liye aasan karde, Aur mere liye isme barkat ata farma, Aur agar tu janta hai ye jaan (Kaam ka nam le) mere Deen meri Dunya aur anjaam kar ke etbar se mere liye bura he to is ko mujh se door karde, Aur mujhe isse door karde, Aur mere liye behtree aur bhalai muqaddar karde chahe wo jaha bhi ho, Phir mujhe ussse khoosh karde.

इस्तिखारा (istikhara) करने का तरीक़ा

  • जब इंसान को कोई ज़रूरी मसला पेश हो तो वो फ़ौरन इस्तिखारा की निय्यत (ज़हन बनाए) कर के अपने रब से भलाई मांग सके।
  • नमाज़ की तरह पूरा वज़ू करे।
  • फ़र्ज़ नमाज़ के इलावा 2 रकअत नमाज़ अदा करे।
  • नमाज़ पढ़ने के बाद इस्तिखारा की दुआ पढ़े जो इस पोस्ट में ऊपर दी गई है।

इस्तिखारा की अहमियत

सय्यदना जाबिर रज़ियल्लाहु अन्हु बयान करते है के नबी सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम हमें इस्तिखारा की तालीम ऐसे देते जैसे क़ुरआन करीम की सूरत मुबारका सिखाया करते थे।

(बुखारी 6382)

Dua e Istikhara Kab Padhe

दुआए इस्तिखारा का मस्नून तरीक़ा येही है के नमाज़ के बाद की जाए। हदीस शरीफ़ में इस्तिखारा की दुआ सलाम फेरने के बाद मांगने का हुक्म है। नबी करीम सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम ने फ़रमाया (जब तुम में से किसी शख़्स का कोई काम का इरादा हो तो वह फ़र्ज़ नमाज़ के इलावा दो रकअत पढ़े फिर कहे) फिर आप ने दुआए इस्तिखारा पढ़ी।

Istikhara से पहले

जो इंसान इस्तिखार कररहा है उसे चाहिये के इस्तीखरा से पहले अपने मन को पाक और साफ़ करे मतबल ये के पूरा धियान अल्लाह तआला की तरफ़ लगा कर अल्लाह रब्बुल आलमीन से भलाई और भलाई मांगे और पूरी ईमानदारी से अल्लाह के सामने दरख़्वास्त रखें बेशक अल्लाह उसके लिये बेहतर फैसला करेंगे।

इस्तिखारा की हिकमत

इसमें कोई शक नहीं है कि इस्तिखारा की सबसे बड़ी हिकमत हर समय अपने रब से जुड़ा रहना और हर काम और हर हाल में अल्लाह से अच्छाई की तलाश करना है।

आख़री बात Conclusion

उम्मीद है के आप लोगों को इस्तिखारा की दुआ हिंदी में ये आर्टिक्ल अच्छा लगा होगा इस्तिखारा की दुआ हिंदी में और इस्तिखारा की दुआ का तर्जुमा हिंदी में आप ने पढ़ा अब जब कोई काम का इरादा करें तो इस्तिखारा ज़रूर करें। साथ ही हमने Istikhara Ki Dua Roman English में भी लिखा है आप लोग खुद पढ़े और दूसरों को शेर करें और अपनी दुआ में याद रखें।

Read More:

Safar ki Dua

Namaz ke Baad ki Dua in Hindi

Nazar Ki Dua

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.